Delhi

भजनपुरा हादसा: ‘जानलेवा’ इमारत के मालिक को पुलिस ने गिरफ्तार किया

भजनपुरा के पास सुभाष मुहल्ला में शनिवार को निर्माणाधीन कोचिंग सेंटर की छत गिरने के कारण चार छात्रों समेत पांच लोगों की मौत होने के मामले में पुलिस ने इमारत के मालिक को गिरफ्तार कर लिया है।

पकड़ा गया आरोपी शंकर कश्यप पिछले तीन-चार साल से इमारत में कोचिंग सेंटर संचालित कर रहा था। मारे गए लोगों में एक शंकर का भाई भी है। पुलिस ने बताया कि हादसे के समय कोचिंग में 30 बच्चे थे।

पुलिस उपायुक्त ने बताया कि सुभाष मोहल्ला की गली नंबर-6, में एजुकेशनल प्वाइंट के नाम से दूसरी मंजिल पर कोचिंग सेंटर था। इसे हरिशंकर और उमेश कश्यप उर्फ बल्लू (32) नामक युवक चलाते थे। कोचिंग सेंटर की छत गार्डर-पटिया की बनी हुई थी। कुछ दिन से कोचिंग सेंटर के ऊपर एक और मंजिल बनाने का काम चल रहा था। शाम करीब 4:30 बजे ऊपरी मंजिल की दीवार गिरी तो मकान की छत भी गिर गई।

हादसे में नीचे के कमरों में अलग-अलग क्लास में पढ़ा रहे शिक्षक उमेश व सुजाता दब गए। मलबा गिरने से हुई जोरदार आवाज को सुनकर स्थानीय लोग मदद को भागे। मलबे में दबे 6 बच्चों को तत्काल निकालकर नजदीकी जगप्रवेश चंद अस्पताल ले जाया गया। वहां डॉक्टरों ने 4 बच्चों व शिक्षक उमेश को मृत घोषित कर दिया। जान गंवाने वाले फरहान (6), कृष्णा (12), दिशु (14) और कृतिका त्यागी (10) के रूप में हुई है। मरने वाले सभी बच्चे आसपास के घरों के थे। उधर, जगप्रवेश चंद अस्पताल से बाकी बच्चों को जीटीबी अस्पताल रेफर कर दिया गया था।

उधर, प्रदेश भाजपा अध्यक्ष और इलाके के सांसद मनोज तिवारी ने घटनास्थल का दौरा किया। उन्होंने मृतकों के परिजनों को एक-एक लाख व घायलों को 25 हजार रुपये देने की घोषणा की। इसके बाद मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल पहुंचे और मामले की जांच कराने और मृतकों के परिजनों को 10-10 लाख रुपये की मदद देने की घोषणा की।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker