India

IRCTC Tejas Express : 9:55 बजे दिल्‍ली रवाना, मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ ने दिखाई हरी झंडी

भारतीय रेल में बदलाव का नया युग तेजस क्‍लास ट्रेन नई दिल्‍ली के लिए रवाना हो गई। सुबह पौने 10 बजे मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ ने हरी झंडी दिखाकर ट्रेन को रवाना किया। लखनऊ जंक्‍शन पहुंचने के बाद मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ ने ट्रेन की तैयारियों का जायजा लिया। साथ ही ट्रेन के अंदर घूमकर सुविधाओं का निरीक्षण। ट्रेन में बैठे यात्रियों का अभिवादन भी किया। लखनऊ से नई दिल्‍ली के बीच पहले सफर में लगभग 400 यात्री सफर के लिए रवाना हुए। लखनऊ जंक्‍शन के मंच पर मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ के साथ नगर विकास मंत्री आशुतोष टंडन, महिला कल्‍याण मंत्री स्‍वाति सिंह, जल शक्ति मंत्री महेंद्र सिंह मौजूद रहे। उन्‍होंने दीप प्रज्‍जवलित किया।

रवानगी से पहले नगीनगनलखनऊ जंक्‍शन पर मुख्‍यमंत्री के आने की तैयारियां पूरी कर ली गई हैं। प्‍लेटफार्म पर रेड कारपेट बिछा दिया गया है। वहीं तेजस को फूलों से सजाया गया है। हर बोगी में सुरक्षा कर्मी तैनात रहेंगे। ट्रेन में सुरक्षा के पुख्‍ता इंतजाम किए गए हैं। इस ट्रेन में कैप्‍टन से लेकर क्रू तक सभी महिलाएं हैं। इनका ड्रेस कोड भी ब्‍लैक औ र यैलो कलर है। रवानगी से पहले सभी स्‍टाफ ने ट्रेन के आगे सेल्‍फी ली।

ट्रेन में यात्रियों का आना भी शुरू हो गया। सभी यात्री पहली बार इस कारपोरेट ट्रेन में बैठने को लेकर काफी उत्‍साहित नजर आए। यात्रियों को ट्रेन में बैठने से पहले कड़ी सुरक्षा और चेकिंग से गुजरना पड़ा।

रेलवे बोर्ड चेयरमैन विनोद यादव भी मौके पर पहुंचे और उद्घाटन की तैयारियों का जायजा लिया। प्‍लेटफार्म पर करंट टिकट का काउंटर भी लगाया गया। जिसमें यात्रियों को करंट टिकट उपलब्‍ध कराया गया। शुक्रवार को चेयर कार 1600 और एक्सक्यूटिव 2310 रुपये किराया है।

17 साल का ट्रेन चलाने का अनुभव 

लखनऊ से नई दिल्ली जाने वाली तेजस एक्सप्रेस को लोको पायलट सुबोध कुमार सहायक पायलट प्रशांत श्रीवास्तव लेकर जा रहे हैं इनके साथ स्टैंडबाई में राकेश भारती और अखिलेश कुमार हैं। इसके अलावा गार्डअतुल दीक्षित भी मौजूद हैं । सुबोध कुमार को करीब 17 साल का ट्रेन चलाने का अनुभव है। इसके साथ ही अभी तक सुबोध वैशाली एक्सप्रेस गोरखधाम एक्सप्रेस सप्त क्रांति एक्सप्रेस गोरखपुर इंटरसिटी सहित करीब दो दर्जन ट्रेनें चला चुके हैं। इनकी कार्यकुशलता सतर्कता और सिगनलिंग में महारत हासिल होने के कारण इनको यह अवसर  दिया गया है। वहीं उद्घाटन से पहलेे पूजा भी की गई।

ट्रेन उद्घाटन लखनऊ के प्लेटफार्म नंबर छह से होगा। इसके लिए कैब-वे सुबह पांच से दोपहर 12 बजे तक बंद रहेगा। रेलवे बोर्ड चेयरमैन विनोद यादव समेत तमाम बड़े रेल अफसर, सांसद, मंत्री, विधायक मौजूद रहेंगे। उन्होंने बताया कि तेजस बेहतर सुविधाओं के साथ नारी सशक्तिकरण की भी मिसाल पेश करेगी। इसमें ट्रेन कैप्टन से लेकर क्रू स्टाफ तक महिला ही हैं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker