India

Nirbhaya case Updates: मुकेश-विनय की क्यूरेटिव पेटिशन पर SC में सुनवाई से पहले निर्भया की मां का बड़ा बयान

नई दिल्ली, ऑनलाइन डेस्क। 2012 Delhi Nirbhaya Case: चारों दोषियों अक्षय ठाकुर, मुकेश सिंह, विनय कुमार शर्मा और पवन कुमार गुप्ता की फांसी के लिए तिहाड़ जेल में चल रही तैयारी के बीच मंगलवार को सुप्रीम कोर्ट में अहम सुनवाई होगी। दरअसल, डेथ वारंट जारी होने के बाद चार में से दो दोषियों विनय शर्मा और मुकेश सिंह ने सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) में क्यूरेटिव पेटिशन (सुधारात्मक याचिका) दायर कर राहत की गुहार लगाई है। इस पर मंगलवार को सुप्रीम कोर्ट के पांच जजों की बेंच सुनवाई होगी, इनमें जस्टिस एनवी रमन्ना, जस्टिस अरुण मिश्रा, जस्टिस आरएफ नरीमन, जस्टिस आर. भानमती और जस्टिस अरुण भूषण शामिल हैं।

बता दें कि एक दोषी विनय शर्मा ने क्यूरेटिव पेटिशन में अपनी युवावस्था का जिक्र करने के साथ जेल में अपने आचरण, परिवार में बीमार माता-पिता और आश्रितों का हवाला देते हुए कहा कि उनके साथ  न्याय नहीं हुआ, जिस पर विचार किया जाए।

गौरतलब है कि 7 जनवरी को दिल्ली की पटियाला हाउस कोर्ट ने निर्भया के माता-पिता की याचिका पर अहम फैसला देते हुए 22 जनवरी की सुबह 7 बजे चारों दोषियों को तिहाड़ जेल में मौत होने तक फांसी के फंदे पर लटकाने के आदेश के तहत डेथ वारंट जारी किया था।

क्यूरेटिव पेटिशन में 17 मामलों का जिक्र

दोषियों विनय कुमार शर्मा और मुकेश सिंह ने अपनी क्यूरेटिव पेटिशन में कहा है कि दो साल पहले यानी वर्ष 2017 के सुप्रीम कोर्ट के निर्णय के बाद 3 जजों की बेंच ने दुष्कर्म और हत्या से जुड़े 17 केस में दोषियों की फांसी की सजा उम्रकैद में तब्दील की है।

गौरतलब है कि 16 दिसंबर,  2012 को वसंत विहार इलाके में चलती बस में कुल पांच दरिदों (राम सिंह, नाबालिग, मुकेश सिंह, विनय कुमार शर्मा, पवन कुमार गुप्ता और अक्षय ठाकुर) ने निर्भया के साथ वहशियाना हरकत की थी, जिसके बाद इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई थी। छह में से राम सिंह ने तिहाड़ जेल में आत्महत्या कर ली थी, जबकि नाबालिग जुवेनाइल कोर्ट में अपनी सजा पूरी कर चुका है। उधर, निचली अदालत के बाद दिल्ली हाई कोर्ट और सुप्रीम कोर्ट भी फांसी की सजा पर मुहर चुका है। इस बीच दिल्ली की स्थानीय अदालत बचे चारों दोषियों अक्षय, मुकेश, विनय और पवन के खिलाफ फांसी देने के लिए डेथ वारंट भी जारी कर चुका है, जिसके तहत 22 जनवरी की सुबह 7 बजे तिहाड़ जेल में फांसी दी जानी है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker