India

दिल्ली में अब अफवाह ने ले ली जान! रविवार शाम को मची भगदड़ से एक की मौत

अफवाह की शुरुआत दिल्ली के राजौरी गार्डन इलाके से हुई, जहां पर सट्टा खेल रहे कुछ लोगों को पुलिस ने पकड़ा था. इससे आसपास अफवाह फैल गई कि फिर दंगा शुरू हो गया है.

देश की राजधानी दिल्ली में रविवार कुछ सब कुछ सामान्य चल रहा था. दिल्ली के बाशिंदे रोजमर्रा के कामों में लगे हुए थे कि अचानक शाम होते-होते एक अफवाह फैल गई. दंगे की, हिंसा की अफवाह. देखते ही देखते यह अफवाह दिल्ली के हर कोने में फैल गई. अचानक दिल्ली के कई इलाकों में भगदड़ जैसे हालात हो गए.

ओखला के बटला हाउस इलाके में अफवाहों की वजह से भगदड़ में एक इंसान की जान जाने का शक है. शव को पोस्टमार्टम के लिए एम्स ले जाया गया है. मृतक का नाम हबीबुल्लाह बताया जा रहा है जिनकी उम्र 32 साल थी. बिहार में भागलपुर के रहने वाले हबीबुल्लाह पेशे से सिलाई का काम करते थे.

ये भी पढ़ेंः दिल्ली में शांति-शांति है! राजधानी में पुलिस ने नाकाम की अफवाह की साजिश

सूत्रों के अनुसार भगदड़ के बाद हबीबुल्लाह शहाब मस्जिद, बटला हाउस के पास गिर कर बेहोश हो गया था जिसे नजदीकी अस्पताल अल्शिफ़ा ले गए जहां उसे मृत घोषित कर दिया गया. पुलिस जांच कर रही है कि क्या भगदड़ की वजह से मौत हुई है या मौत की कोई और वजह है. शरीर पर कोई चोट के निशान नहीं हैं.

कैसे फैली अफवाह

रविवार शाम की एक घटना से कई इलाकों में हिंसा की अफवाह फैल गई. एहतियातन फौरन दिल्ली मेट्रो (DMRC) ने सात मेट्रो स्टेशन बंद कर दिए. लोगों के बीच तेजी से खबर फैली कि राजौरी गार्जन, ख्याला समेत कई इलाकों में हिंसा हो रही है. कई लोगों ने गोलियां चलने की भी बात कही, जिसके बाद अचानक ही लोग फिर से दहशत में आ गए.

ये भी पढ़ेंः सट्टेबाजों के ठिकानों पर रेड से मची भगदड़ तो लोगों ने फैला दी दिल्ली में हिंसा की अफवाह

आजतक से दिल्ली पुलिस ने जो बताया वो हैरान करने वाला था. जानकारी मिली कि पश्चिमी दिल्ली के ख्याला इलाके में पुलिस सट्टेबाजों के ठिकानों पर रेड करने पहुंची थी. इस वजह से वहां मौजूद लोग भागे. लोगों ने जैसे ही उन्हें भागते देखा, लगा कि फिर से हिंसा फैल गई. उसके बाद आसपास के इलाके में भी अफवाह फैल गई.

फैलती गई अफवाह

पश्चिमी दिल्ली के रघुवीर नगर, ख्याला उत्तम नगर, तिलक नगर में दुकानें बंद हो गईं. मॉल में भी अफरा-तफरी का माहौल हो गया. हालांकि इस अफरा-तफरी के बीच दिल्ली पुलिस के तमाम अफसर तुरंत सड़क पर उतर आए. उन्होंने लोगों को समझाया-बुझाया. इस बीच एहतियातन तिलक नगर समेत सात मेट्रो स्टेशन- नांगलोई, सूरजमल स्टेडियम, बदरपुर, तुगलकाबाद, उत्तम नगर पश्चिम और नवादा बंद किए गए, जिसे फिर कुछ देर बाद खोल दिया गया.

ये भी पढ़ेंः दिल्ली में फैली हिंसा की अफवाह, घंटे भर में पुलिस ने ऐसे काबू किए हालात

असल में, हिंसा की अफवाह के बाद दिल्ली पुलिस फौरन हरकत में आई और पूरी दिल्ली में जगह-जगह चेकिंग शुरू की गई. इसके बाद यह साफ हुआ कि दिल्ली में कहीं पर भी हिंसा या दंगा जैसी कोई बात नहीं है बल्कि यह महज एक अफवाह थी.

मुस्तैद पुलिस और रियलिटी चेक

दरअसल, इस अफवाह की शुरुआत दिल्ली के राजौरी गार्डन इलाके से हुई जहां पर सट्टा खेल रहे कुछ लोगों को पुलिस ने पकड़ा और वहां पर पुलिस के आने से भगदड़ मची और आसपास अफवाह फैल गई कि एक बार फिर दंगा शुरू हो गया है. ‘आजतक’ ने राजौरी गार्डन के उस इलाके का आधी रात 2:30 बजे जायजा लिया और देखा की दिल्ली पुलिस हिंसा और अफवाह को रोकने के लिए किस कदर इलाके में मुस्तैद थी.

रात 2:30 बजे राजौरी गार्डन में काफी तादाद में पुलिसकर्मी खड़े थे और गलियों के अंदर भी बीत कॉन्स्टेबल गश्त कर रहे थे. राजौरी गार्डन में अफवाह होते ही मार्केट में भगदड़ मच गई थी. दुकानदार अपनी दुकानें डर के मारे बंद कर भागने लगे थे. लेकिन रात भर दिल्ली पुलिस ने राजौरी गार्डन इलाके में गस्त की और कानून व्यवस्था बनाए रखा.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker